• Phone : 0612-2205482/2218259/ Email : info@bssta.org
  • चुनाव आयोग

    बिहार माध्यमिक शिक्षक संग का एक पांच सदस्यीय स्थायी राज्य निर्वाचन आयोग होगा जिसके गठन हेतु नामिका की अनुशंसा सचिव मण्डल करेगा। रजत कार्यकारिणी समिति अनुमोदन करेगी।  सभी प्रकार के निर्वाचनों के पर्यवेक्षण, निर्देशन और नियंत्रण की शक्ति राज्य निर्वाचन आयोग में निहित होंगी।  आयोग के पाँच सदस्य में से सचिव मण्डल की अनुशंसा पर राज्य कार्यकारिणी समिति एक सदस्य को मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में नामित करेंगे और शेष चार सहायक चुनाव आयुक्त होंगे।

    प्रारंभिक आयोग के पाँच सदस्यों में से उम्र की दृष्टि से वरीयतम सदस्य पांचवे वर्ष कार्यमुक्त हों जायेंगे और उनकी जगह नए सदस्य यथा विहित रीती से संवाचीत होंगे।  इसी तरह उम्र की वरीयता के आधार के आधार पर प्रतिवर्ष क्रम - क्रम से शेष चार सदस्य भी कार्यमुक्त होंगे और उनकी जगह नये सदस्य का संवचन होता जायेगा।  इसके पश्चात् पाँचवे बर्ष से संबधित सदस्योंmen से जिस क्रम से संवाचीत होंगे वे उसी क्रम से अपनी पदावधि  पर कार्यमुक्त होंगे।

    किसी इकाई के पदाधिकारी अथवा कार्यकारणी के सदस्य इसमें सामिल नहीं होंगे। सभी इकाइयों का समय पर चुनाव करना राज्य निर्वाचन आयोग का प्रमुख दायित्व  होगा।  सभी चुनाव नियमावली (अनुसूची - 1) के आलोक में सम्पन्न कराये जायेंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ही चुनाव सम्बंधी सारी गरबारियों और शिकायतों  की जाँच कर यथाशीध्र निर्णय लेगा।  उसका निर्णय अंतिम एवं बाध्यकारी होगा। 

    राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी अधिसूचना के आलोक में निर्धारित तिथि तक यदि कोई इकाई सांगठनिक चुनाव सम्पन्न नहीं करती है तो राज्य निर्वाचन आयोग से सुचना प्राप्त कर सचिव मण्डल की अनुशंसा पर राज्य कार्यकारिणी समिति उक्त इकाई को भांग कर तदर्थ समिति गठित कर सकेगी .

    बिहार माध्यमिक शिक्षक संग प्रति वर्ष अपने वार्षिक बजट में राज्य निर्वाचन आयोग के लिए राशि का उपबंध करेगा। स्वीकृति आय - ब्यायक से मुख्य निर्वाचन आयुक्त अपना  एवं सहायक चुनाव आयुक्तों के यात्रा व्यय विपत्र एवं अन्य प्रकार के व्यय - विपत्रों को पारित कर भुगतान करेंगे।